ब्लॉग आर्काइव

डा श्याम गुप्त का ब्लोग...

मेरी फ़ोटो
Lucknow, UP, India
एक चिकित्सक, शल्य-चिकित्सक जो हिन्दी हिन्दू हिन्दुस्तान व उसकी संस्कृति-सभ्यता के पुनुरुत्थान व समुत्थान को समर्पित है व हिन्दी एवम हिन्दी साहित्य की शुद्धता, सरलता, जन-सम्प्रेषणीयता के साथ कविता को जन-जन के निकट व जन को कविता के निकट लाने को ध्येयबद्ध है क्योंकि साहित्य ही व्यक्ति, समाज, देश राष्ट्र को तथा मानवता को सही राह दिखाने में समर्थ है, आज विश्व के समस्त द्वन्द्वों का मूल कारण मनुष्य का साहित्य से दूर होजाना ही है.... मेरी दस पुस्तकें प्रकाशित हैं... काव्य-दूत,काव्य-मुक्तामृत,;काव्य-निर्झरिणी, सृष्टि ( on creation of earth, life and god),प्रेम-महाकाव्य ,on various forms of love as whole. शूर्पणखा काव्य उपन्यास, इन्द्रधनुष उपन्यास एवं अगीत साहित्य दर्पण (-अगीत विधा का छंद-विधान ), ब्रज बांसुरी ( ब्रज भाषा काव्य संग्रह), कुछ शायरी की बात होजाए ( ग़ज़ल, नज़्म, कतए , रुबाई, शेर का संग्रह) my blogs-- 1.the world of my thoughts श्याम स्मृति... 2.drsbg.wordpres.com, 3.साहित्य श्याम 4.विजानाति-विजानाति-विज्ञान ५ हिन्दी हिन्दू हिन्दुस्तान ६ अगीतायन ७ छिद्रान्वेषी

रविवार, 15 सितंबर 2013

प्रेस्टिज शान्तिनिकेतन केम्पस में गणेशोत्सव संपन्न...डा श्याम गुप्त ...

रीना गुप्ता ,श्रीमती नंदा एवं अन्य का नृत्य

रीना गुप्ता नृत्य की एक आकर्षक मुद्रा में

श्री किशन गुन्डूराव का वक्तव्य


श्रीमती पुष्पा द्रविड़ ..रीना गुप्ता व सुषमा गुप्ता के साथ
                                         

                                         प्रेस्टिज शान्तिनिकेतन केम्पस में गणेशोत्सव संपन्न


                    प्रेस्टिज शान्तिनिकेतन केम्पस, बेगलोर का छह दिवसीय   गणेशोत्सव रंगारंग कार्यक्रमों  के साथ संपन्न हुआ | मुख्य अतिथितियों में नृत्यांगना वाणी गणपति , माननीय श्री दिनेश गुन्डूराव खाद्य एवं आपूर्ति मन्त्री, कर्नाटक सरकार एवं अंतिम दिवस की सांस्कृतिक संध्या की मुख्य अतिथि क्रिकेटर राहुल द्रविड़ की माँ श्रीमती पुष्पा शरत चन्द्र द्रविड़ थीं |  शान्तिनिकेतन के निवासियों बालकों, महिलाओं, युवाओं व वरिष्ठ नागरिकों द्वारा विवध सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश किये गए | वरिष्ठ शास्त्रीय गायिका श्रीमती चंद्रश्री द्वारा राग मधुमती, झप ताल में सुनाकर दर्शकों को मन्त्र-मुग्ध कर दिया | प्रस्तुत हैं कुछ झलकियाँ .....